Monday, June 15, 2020

500 रुपए पेंशन के लिए 60 साल कि बेटी ने 100 साल कि बेबस माँ को खाट से बैंक तक घसीटा

ओडिशा के नौपारा जिले के बरगांव का है। 60 साल की पूंजीमति देई अपनी मां लाभे बघेल को खाट पर घसीटती हुई नजर आ रही है। बताया जाता है कि वह मां के जनधन खाते में आई राहत राशि निकलवाने के लिए बैंक जा रही है। कोरोना महामारी के बाद केंद्र सरकार ने महिला जनधन खाताधारकों के अकाउंट में तीन महीने तक 500 रुपये जमा कराए हैं पूंजीमति 9 जून को अपनी मां के खाते में आए 1500 रुपये निकलवाने के लिए देई उत्कल ग्रामीण बैंक की स्थानीय ब्रांच में गई थी हालांकि बैंक मैनेजर अजित प्रधान ने कहा कि खाता धारक को ब्रांच में लाओ। पूंजीमति ने बताया कि उसके पास पैसे नहीं थे और मां खाट से उठ नहीं सकती है।

इसलिए वो अपनी मां को खाट ​सहित घसीट कर बैंक ले कर आई बैंक मैनेजर महिला के घर वेरिफिकेशन के लिए जाने वाला था, लेकिन उससे पहले महिला खुद ही इस तरह बैंक पहुंच गई। डीसी ने कहा कि क्योंकि मैनेजर बैंक में अकेले ही काम करते हैं इसलिए उनके लिए उसी दिन जाना मुश्किल था। लेकिन उन्होंने अगले दिन आने का वादा भी किया था। रिजर्व बैंक कई बार बैंकों को सलाह दे चुका है कि बुजुर्ग और अपंगता के शिकार लोगों को घर पर ही बैंकिंग सुविधाएं मुहैया कराई जाए।  आज लोग पैसे के लिए कुछ भी कर सकते है और बेटी होकर ऐसा काम करना दिल दहला देने वाली बात है क्योंकि कहा जाता है कि बेटी तो माँ का सहारा होती है ।

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

Newsletter