Friday, July 24, 2020

हवाई मदद नहीं मिलने पर साथी को बचाने के लिए 41 घंटे पैदल चले ITBP के जवान

ITBP के जवानों ने एक बार फिर अपने हौसले से देश के सामने मिसाल कायम की है। भारत-चीन सीमा पर आखिरी चौकी से पहले पड़ने वाली चौकी "मिलम चौकी" में तैनात ITBP के एक जवान की बीस जुलाई की रात को अचानक तबीयत खराब हो गई।

खराब मौसम होने के कारण हवाई मदद नहीं मिल सकी तो ITBP के जवान अपने साथी को स्ट्रेचर पर ही लेकर दुर्गम रास्तो के बीच 61 किमी तक पैदल चलते रहे। जानलेवा रास्तों पर 41 घंटे लगातार चलने के बाद बीमार जवान को मुनस्यारी सड़क पर पहुंचाया जा सका। जहा से उन्हें एंबुलेंस से पिथौरागढ़ जिला अस्पताल भेजा गया।


बीमार साथी के साथ मुनस्यारी पहुंचे जवानों ने बताया कि 21 जुलाई सुबह 5 बजे 16 लोग प्रमोद को स्ट्रेचर पर लेकर मिलम से रवाना हुए। खतरनाक रास्तो के बीच से सफर करते हुए 41 घंटे का पैदल चलकर करीब 61 किमी का सफर तय कर 22 जुलाई रात 10 बजे जवानों ने प्रमोद को मुनस्यारी पहुंचाया।

बीमार जवान प्रमोद गोस्वामी का पिथौरागढ़ के बीडी पांडे जिला अस्पताल में इलाज चल रहा है। डॉक्टर्स ने फिलहाल जवान की हालत खतरे से बाहर बताई है। जवान के परिजन भी देखरेख के लिए अस्पताल में ही मौजूद हैं।

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

Newsletter