Monday, July 6, 2020

भारत के बाद अब अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया में भी बैन होगा TikTok

भारत ने चीन की 59 ऐप्स बैन कर दी और इसी के साथ अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया भी TikTok समेत कई ऐप्स को राष्ट्रीय सुरक्षा का हवाला देकर बैन करने की तैयारी में हैं। ऑस्ट्रेलिया में संसदीय समिति जल्द ही इस प्रस्ताव पर मुहर लगा सकती है। वही अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने भी जल्द ही सुरक्षा की दृष्टि से TikTok समेत कई चायनीज ऐप्स पर प्रतिबन्ध लगाने के बारे में विचार किया है । भारत में टिक टॉक बैन होने से चीनी कंपनी को करीब 6 अरब डॉलर का नुकसान हुआ है।

आश्‍चर्य वाली बात यह है कि टिकटॉक को भले ही भारत में हाल फिलहाल में बैन किया गया गया है, लेकिन चीन में यह बहुत पहले से बैन है। दूसरी ओर चीन हांगकांग में लगातार अपना एक्शन बढ़ाए जा रहा है। इसी बीच अब सोशल मीडिया ऐप टिकटॉक ने हांगकांग में भी अपना काम बंद कर दिया है। ये फैसला तब लिया गया है जब चीन के प्रशासन ने पूरी तरह से हांगकांग पर कब्जा करना शुरू कर दिया है। इसी के बाद अब चीन ने हांगकांग में इंटरनेट को सेंसर करना शुरू कर दिया है, इसी के तहत कई विदेशी एप्लीकेशन और वेबसाइट पर बैन लग रहा है। अब हांगकांग में ट्विटर, फेसबुक और गूगल समेत कई कंपनियों को नोटिस दिया गया है।

TikTok ऐप जिस कंपनी (ByteDance) की है, वह चाइनीज है। भारत सरकार द्वारा बैन लगाए जाने के बाद उसने बीजिंग से दूरी बना ली है। कंपनी लगातार सफाई दे रही है कि भारतीय यूजर्स का डेटा सिंगापुर के सर्वर में सेव हो रहा है और चीन की सरकार ना तो कभी डेटा की मांग की है और ना ही कंपनी इस रिक्वेस्ट को कभी पूरा करेगी। 2017 में बाइटडांस ने TikTok को दुनिया के बाजारों में लॉन्च किया गया। इस ऐप पर चीन में बैन है, या यूं कहें कि इसे चीन के बाजार में लॉन्च नहीं किया गया क्योंकि वहां बहुत ज्यादा चीजों को लेकर पाबंदियां हैं।

कंपनी ने दोनों ऐप के लिए अलग-अलग सर्व का इस्तेमाल किया है। भारत में टिकटॉक को करीब 47 करोड़ बार डाउनलोड किया जा चुका था। इसके कुल यूजर्स का 30 फीसदी हिस्सा भारत में था। भले ही रेवेन्यू के मामले में यह एप भले ही फेसबुक से बहुत पीछे था, लेकिन यूजर्स बेस के मामले में इसने फेसबुक जैसी दिग्गज कंपनियों को पीछे छोड़ दिया था।

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

Newsletter