Thursday, August 6, 2020

इंतकाम - नाग पंचमी के दिन नाग को मारने से गुस्साई नागिन ने 26 लोगों को डसा


हमारे यहां नाग को देवता का रूप माना जाता है। कहा जाता है कि नाग - नागिन के जोड़े को अलग नहीं करना चाहिए अगर नाग को मार दिया जाता है तो नागिन उसका बदला जरूर लेती है। हम आपको कोई फिल्मी कहानी नहीं सुना रहे बल्कि एक ऐसी ही हकीकत से रूबरू करवा रहे है। यह घटना यूपी के बहराइच जिले में घटी। जिसमे नागिन अपना इंतकाम पूरा करने के लिए एक-एक करके 26 लोगों को डस लिया।

बताया जा रहा है कि नाग पंचमी के दिन नाग को मारे जाने से गुस्साई नागिन अब इलाके के लोगों को डस रही है।मामला बहराइच के रुपईडीहा थाने के बाबागंज इलाके का है। यहां इन दिनों खेतों में पानी भर जाने से जहरीले सांपों का निकलना बदस्तूर जारी है। शंकरपुर, चिलबिला, बेलभरिया सहित कुछ गांव में दो दर्जन से ज्यादा ग्रामीणों सहित आधा दर्जन पशुओं को सांप काट चुका है।

शंकरपुर में जानवरों को चारा लगाने जा रहे इबरार की भिड़ंत एक सांप से हुई जिसमे इबरार किसी तरह बच गया। इस बीच किसी ने जहरीले सांप को मार डाला। इसके बाद दो दिनों में संदीप, गुलाबी देवी, शीला देवी, माया देवी, झल्ले, नेहा, धर्म प्रकाश, विपिन, चिरकू, भागीरथ की पत्नी, नगरिया, बैधे, पवन समेत 26 ग्रामीणों को नागिन ने डस लिया है। जिनमें से मुनीष कुमार की रविवार को मौत हो गई है।

ग्रामीणों में बताया कि नाग पंचमी के दिन गांव के मंदिर में रह रहे नाग के जोड़े में से नाग को ग्रामीणों ने मार डाला था। तब से गुस्से से नागिन ने गांव में आतंक मचा रखा है। मरने वालो के घर वालो का कहना है कि सोते समय उन्हें सर्प दंश का अहसास होता है, लेकिन उन्हें नागिन दिखाई भी नहीं देती है।

झाड़-फूंक करने वाले भी गांव में जाने से कतरा रहे हैं। पूरे गांव में डर का माहौल है, लोग अपने बच्चों को रिश्तेदारी में भेज रहे हैं। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बाबागंज के चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर विवेक सिंह ने बताया कि अस्पताल में सांप की वैक्सीन मौजूद है। तत्काल मरीज को अस्पताल पहुंचाने की व्यवस्था करनी चाहिए।

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

Newsletter