Thursday, August 27, 2020

हैवानियत - 9 साल की मासूम बच्‍ची के साथ उसका चाचा मरने के बाद भी करता रहा दुष्‍कर्म


बिहार में एक 9 साल की मासूम बच्‍ची के साथ उसके रिश्‍ते के चाचा ने ऐसी दरिंदगी दिखाई की, जिसके सामने दिल्‍ली का निर्भया सामूहिक दुष्‍कर्म व हत्‍याकांड भी घुटने देता है। मंगलवार की शाम गोपालगंज के सिघवलिया थाना क्षेत्र में पड़ोसी के घर के छज्जे पर एक बक्से से नौ साल की एक बच्‍ची का शव मिला इस मामले में पुलिस ने जब छानबीन शुरू की तो उसके चाचा का नाम सामने आया पुलिस ने उसके चचेरे चाचा को गिरफ्तार कर उससे पूछताछ की तो दिल दहलादेने वाली बात सामने  आयी।

उसने बयान में कहा की  बच्‍ची उसके दुष्कर्म को सहन नहीं कर सकी और वो वहीं मर गई। दुष्‍कर्म करने के बाद जब उसने बच्‍ची को मरा हुआ पाया तो उसके मरे हुए शरीर को ठिकाने लगाने की योजना बनाई, लेकिन वो अपनी चाल में कामयाब नहीं हुए और सारा मामला सामने आ गया  ।

दिल्‍ली में भी कुछ साल पहले एक पारामेडिकल छात्रा के साथ सामूहिक दुष्‍कर्म व शारीरिेक प्रताड़ना के मामले ने सारे देश-दुनिया की रूह काँप उठी थी । बाद में इलाज करते समय  लड़की की मौत हो गई थी। लम्बे समय के बाद उसके दोषियों को कुछ महीने पहले ही फांसी दे दी गई। गोपालगंज में मासूम बच्‍ची से दरिंदगी के मामले में आरोपी को बच्‍ची के मरने का पता दुष्‍कर्म के बाद चला। इस घटना ने दुष्‍कर्म व हत्‍या के निर्भया कांड की याद ताजा कर दी है।

यह घटना सिधवलिया थाना क्षेत्र के बखरौर गांव की है जिसमे मानव जाती को शर्मसार करने वाली इस घटना से बच्ची के पिता ने चार लोगों को आरोपित किया है। चचेरे चाचा को पुलिस ने गिरफ्तार किया तब सारे मामले की जानकारी मिली ।

पुलिस का कहना है की नौ वर्षीया बच्ची अपने पड़ोसी 27 वर्षीय जयकिशोर साह के एक साल के बच्चे के साथ खेलने उसके घर जाती थी। मंगलवार की सुबह बच्चे के साथ खेलने की बात कह उसके घर गई। जयकिशोर उसे बहला- फुसलाकर कमरे में ले गया और दुष्कर्म करने लगा। दुष्‍कर्म के बाद उसने देखा कि बच्ची की पहले ही मौत हो चुकी थी।

उस दरिंदे ने  पुलिस को बताया कि बच्ची की मौत के बाद अपनी पत्नी के साथ मिलकर शव को बोरे में डालकर उसे बांध दिया। इसके बाद बक्से में डालकर ताला मार छज्जे पर रख दिया तथा सभी लोग बाहर का दरवाजा बंद कर बाहर  निकल गए। उन्‍होंने बाद में आकर शव को ठिकाने लगाने का प्‍लान बनाया।

जब बहुत  देर तक बच्ची घर नहीं लौटी तो उसके घरवालों  ने उसे ढूंढ़ना शुरू किया । घर वालो ने  देखा कि जयकिशोर का घर बाहर से बंद है। घर के बाहर जयकिशोर की मां सरस्वती कुंवर खड़ी थी। उसके मना करने के बावजूद ग्रामीणों ने जबरदस्ती  दरवाजा खोला तो छज्जे पर रखे बक्से में बच्ची का शव मिला।

इसके बाद बच्‍ची के पिता के बयान पर जयकिशोर साह, उसकी पत्नी सुशीला देवी, मां सरस्वती कुंवर तथा भाई प्रदीप कुमार के खिलाफ एफआइआर दर्ज की गई है। पुलिस ने जयकिशोर साह को गिरफ्तार किया है। बाकि उन तीनो को पुलिस ढूंढ रही है।

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

Newsletter