Thursday, August 20, 2020

डॉ. योगिता हत्याकांड : आरोपी डॉ. विवेक ने बताया - मैंने योगिता को क्यों मारा ?


आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज की स्त्री रोग विभाग की पीजी की छात्रा योगिता गौतम की मंगलवार रात हत्या कर दी गई थी । उसके आरोपी विवेक तिवारी ने ये कबूल कर लिया है की उसी ने योगिता की हत्या की है। उसने पुलिस को बताया कि गुरुवार की सुबह मैं योगिता से शादी करना चाहता था। मगर, योगिता उससे जल्दी शादी करना चाहती थी । आरोपी ने उससे कहा था कि बहन की शादी के बाद वह शादी कर लेगा। इस बात को लेकर उन दोनों में विवाद चल रहा था।

योगिता ने कुछ दिन पहले ही उससे बात करना भी बंद कर दिया था। इस दौरान उसका मोबाइल भी व्यस्त रहता था। इस कारण से वह उस पर शक भी करने लगा। मंगलवार को एक बार मिलने के बहाने से आया था। इस दौरान ही कार में दोनों के बीच झगड़ा हो गया।

झगड़े के दौरान ही उसने योगिता का गला दबा दिया। योगिता की सांसे चल रही थीं, तो आरोपी ने गर्दन पर चाकू मार दिया। और उसके शव को फेंक दिया और उसके ऊपर  लकड़ी डाली, जिससे लोग देख न पाएं। उसने उसे जलाने की कोशिश भी की  लेकिन जला नहीं पाया। क्षेत्राधिकारी कोतवाली चमन सिंह चावड़ा ने बताया कि आरोपी ने हत्या करना कबूल कर लिया है। उससे अन्य साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं। उसके शव को डौकी क्षेत्र के गांव बमरौली में सुनसान इलाके में फेंक दिया गया। बुधवार की सुबह उसका शव मिला था।

बुधवार की शाम शिनाख्त होने पर मृतका के भाई डॉक्टर मोहिंदर कुमार गौतम ने उरई में मेडिकल ऑफिसर डॉ. विवेक तिवारी के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था। इससे पहले थाना डौकी में हत्या का मुकदमा दर्ज किया था। पुलिस की टीम ने देर रात में  ही डॉ. विवेक तिवारी को हिरासत में ले लिया था।

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

Newsletter