Tuesday, August 11, 2020

फेसबुक पोस्ट से मचा बवाल : भीड़ ने MLA के घर पर किया हमला - 2 लोगों की मौत, 60 पुलिसकर्मी घायल


बेंगलुरु के कुछ इलाकों में मंगलवार देर रात साम्प्रदायिक हिंसा भड़क गई और कांग्रेस विधायक अखंड श्रीनिवास मूर्ति के घर पर पत्थर फेंके और आगजनी की। इतना ही नहीं गुस्साई भीड़ ने डीजे हल्ली और केजी हल्ली पुलिस स्टेशन पर भी जमकर पत्थर बरसाए। भीड़ के साथ झड़प में 60 पुलिस वाले घायल हो गए। भीड़ इतनी उग्र थी कि उनपर काबू पाने के लिए पुलिस को गोलिया चली पड़ी जिसमे 2 लोगो कि मौत हो गई। श्रीनिवास मूर्ति उत्तरी बेंगलुरु के पुलकेशी नगर से विधायक हैं। सुरक्षा के लिहाज से विधायक को पुलिस स्टेशन में रखा गया है। उनके घर के बाहर भी सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

पुलिस आयुक्त कमल पंत ने बताया कि विधायक के भांजे के अकाउंट से एक अपमानजनक पोस्ट किया गया जो एक समुदाय विशेष के खिलाफ था।  यह पोस्ट वायरल हो गई और लोगो ने इसका विरोध करना शुरू कर दिया और लोग MLA के आवास के बाहर जुटने लगे इसके बाद गुस्साई भीड़ ने पत्थर और बोतले फेकना शुरू कर दिया।

उन्होंने कहा, "उपद्रवियों पर काबू पाने के लिए की गई फायरिंग में दो लोगों की मौत हो गई, जबकि एक घायल व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। बेंगलुरु में सीआरपीसी की धारा 144 लागू कर दी गई है और डीजे हल्ली व केजी हल्ली पुलिस स्टेशन के अंतर्गत आनेवाले इलाकों में कर्फ्यू लगा दिया गया है।"

इस हिंसा के बाद विधायक मूर्ति ने एक वीडियो मैसेज जारी कर लोगों से संयम बरतने की अपील की। विधायक ने कहा, 'मेरी बहन के बेटे का एक फेसबुक पोस्ट वायरल हो गया है। मैंने वो पोस्ट नहीं देखा, लेकिन मुझे बताया गया है कि ये पोस्ट एक खास समुदाय से जुड़ा है और इससे उनकी भावनाएं आहत हुई हैं। मैंने पुलिस से कहा कि वो पोस्ट करने वाले मेरे भांजे को गिरफ्तार करें। मैं लोगों से अपील करता हूं कि कुछ उपद्रवियों की गलतियों के चलते हमें हिंसा में शामिल नहीं होना चाहिए। लड़ने-झगड़ने से कुछ हासिल नहीं होता। हम सभी भाई हैं। हम कानून के अनुसार दोषियों को सजा दिलाएंगे। हम भी आपके साथ हैं। मैं अपने दोस्तों से शांति बनाए रखने की अपील करता हूं।'

पुलिस ने विधायक के भांजे को गिरफ्तार कर लिया है। उसने पुलिस को बताया कि उसका फेसबुक अकाउंट हैक किया गया और जो भी आपत्तिजनक बातें लिखी गईं, उससे उसका कोई संबंध नहीं है।

इस मामले पर कर्नाटक के गृहमंत्री ने कहा, "मामले की जांच हो रही है, लेकिन तोड़फोड़ से किसी समस्या का समाधान नहीं हो सकता। सुरक्षा के मद्देनजर इलाके में अतिरिक्त बलों को तैनात कर दिया गया है और उपद्रवियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।"

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

Newsletter