Wednesday, August 19, 2020

गुड़गांव: OYO होटल खुलवाने के नाम पर 20 लाख रूपये की ठगी


साइबर सिटी गुड़गांव में होटल खुलवाने के लिए हांसी निवासी व्यक्ति को ओयो से लीज एग्रीमेंट कराने के नाम पर फर्जीवाड़े का मामला सामने आया है। ओयो से फर्जी दस्तावेज तैयार कर दे दिए और पीड़ित से करीब 20 लाख रुपये ठग लिए गए । हांसी के आर्य नगर निवासी सुरेंद्र मलिक गुड़गांव में कोई बिजनेस करना चाहता था। कुछ महीने पहले गुड़गांव बस स्टैंड के पास रजवाड़ा होटल चलाने वाले पवन बजाज से उसकी मुलाकात हुई। उसने गुड़गांव में होटल खुलवाने व ओयो कंपनी से करार कराने का दावा किया और उसे कहा गया की इस काम में बहुत अच्छी आमदनी होगी।

 जुलाई 2019 में पीड़ित को सेक्टर-38 में प्लॉट नंबर 76 पर बनी बिल्डिंग किराये पर दिला दी। इस पर पहले से ही आरएस रॉयल होम स्टे नाम से होटल चल रहा था।साथ ही होटल के लिए जो किराए पर बिल्डिंग ली गई वो भी खुद की बताकर किराया वसूलता रहा। 20 जुलाई को पवन बजाज ने एक व्यक्ति से मिलवाकर कहा कि ये प्रॉपर्टी का मालिक है और उनसे बिल्डिंग की किराए पर लीज डीड करा दी।  इस शिकायत पर सदर थाना पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है।

22 जुलाई को किराए का एग्रीमेंट कराकर सुभाष वर्मा ने खुद को बिल्डिंग का मालिक बताया। 1 अगस्त को होटल का चार्ज ले लिया और द चेयरमैन नाम से होटल संचालन शुरू किया। कई बार कहने के बाद ओयो से एग्रीमेंट कराया। नवंबर महीने में पीड़ित को पता चला कि बिल्डिंग मालिक सुभाष वर्मा नहीं बल्कि कोई दूसरा है। लेकिन तब तक सुभाष वर्मा ही खुद को मालिक बता कर किराया वसूलता रहा। साथ ही ओयो से करार के दिए दस्तावेज भी फर्जी मिले।

ओयो कंपनी से दस्तावेज के बारे में पता किया  तो उनकी साइट पर अब भी ये प्रॉपर्टी आरएस रॉयल होम स्टे के नाम से चल रही थी। ओयो ने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा कि ये एग्रीमेंट फर्जी है। आरोपी से जब सुरेंद्र मलिक ने अपने 20 लाख रुपये वापस मांगे तो उसने धमकी दी। तब पीड़ित ने इस घटना की शिकायत पुलिस को दी। सदर थाना एसएचओ दिनेश ने बताया कि आरोपी व उसके साथियों के खिलाफ साजिश के तहत फर्जी दस्तावेज तैयार कर ठगी के आरोप में एफआईआर दर्ज की गई है। मामले की जांच कर कार्रवाई की जा रही है।

No comments:

Post a Comment

Popular Posts

Newsletter