Skip to main content

दोस्ती, धोखा, रेप, ख़ुदकुशी और क़त्ल - तिहाड़ जेल की अनोखी बदले की कहानी


देश की राजधानी दिल्ली में तिहाड़ जेल में एक ऐसी घटना घटित हुई जो दिल दहला देती है एक भाई ने अपनी बहन का बदला लेने के लिए खुद को जानबूझकर आरोपी बनाया। कभी-कभी जुर्म की दुनिया में कुछ ऐसी वारदातें घटित होती हैं, जिनकी कहानी किसी फिल्म से कम नहीं होती। ऐसे ही घटना अभी दिल्ली की तिहाड़ जेल भी भी घटी जिसमें बदले की आग ने एक शख्स को खूनी बना दिया।

दिल्ली की तिहाड़ जेल में सोमवार को एक कैदी ने दूसरे कैदी का तेजधार हथियार से कत्ल कर दिया। मृतक का नाम मेहताब था और मारने वाले का नाम जाकिर था । वे दोनों आपस में करीब 7 साल से दोस्त थे। दोनों का एक दूसरे के घर पर आना जाना था। मेहताब का चरित्र अच्छा नहीं था। उसने एक दिन मौका पाकर ज़ाकिर की नाबालिग बहन को अपनी हवस का शिकार बना डाला। रेप की इस घटना के बाद जाकिर की बहन ने खुदकुशी कर ली। ज़ाकिर की बहन के साथ जो कुछ हुआ वो उसे बर्दाश्त नहीं हो रहा रहा था।

जाकिर ने अब अपनी बहन के कातिल से बदला लेने की अपने मन में ठान ली थी। लेकिन बदला कैसे लेता क्योंकि मेहताब अपने जुर्म के कारण तिहाड़ जेल में था। उसने मेहताब तक पहुंचने के लिए किसी का खून करने की सोची और 20 जुलाई 2018 को दक्षिण पश्चिम दिल्ली का जैतपुर इलाका जहां जलेबी चौक में एक रिक्शेवाले को चाकू से गोद डाला जिसके कारण रिक्शेवाले की मौत हो जाती है। जब जाकिर जेल पहुंचा उस समय वह 20 साल का था।

इस मर्डर के पीछे उसका मकसद सिर्फ जेल जाना ही था, उसे तिहाड़ में उस वार्ड में रखा गया, जंहा 20 साल से कम उम्र के अपराधी रखे जाते हैं। जैसे-जैसे वक्त बीता। ज़ाकिर की उम्र 20 साल से ज्यादा हो गई। फिर उसे तिहाड़ की दूसरी जेल में शिफ्ट किया गया। लेकिन वहां जाने के बाद भी वो मेहताब की जेल से दूर था। फिर उसने एक और साजिश रची। वो अपने वार्ड के दूसरे कैदियों से प्रतिदिन मारपीट करने लगा जिसके चलते उसने जेल प्रशासन उससे तंग हो गया और उसको दूसरी जेल में शिफ्ट कर  दिया गया।

अब जाकिर और मेहताब एक ही जेल में थे, अब उसने  मेहताब को मारने का मौका तलाशना शुरू कर दिया। वो लगातार मेहताब की फिराक में था। दो-तीन दिन उस जेल में बिताने के बाद उसे मेहताब की जानकारी मिल गई। वो ये भी जान गया कि उसे मारने का सबसे बढ़िया मौका सुबह का है, जब प्रेयर के लिए बैरक खोले जाते हैं। 29 जून की सुबह जैसे ही बैरक खुली ज़ाकिर पहली मंजिल पर जा पहुंचा और वो वहां पहले से मौजूद मेहताब पर चाकू नुमा हथियार लेकर टूट पड़ा उसने मेहताब पर एक बाद एक ताबड़तोड़ वार किए इस हमले में मेहताब बुरी तरह से घायल हो गया। पहले उसे जेल में प्राथमिक उपचार दिया गया। फिर डीडीयू अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई।

जेल में कत्ल की वारदात से जेल प्रशासन सकते में आ गया। आखिर कातिल के पास हथियार आया कहां से? कैसे उसने कत्ल की खौफनाक वारदात को अंजाम दे डाला। ऐसे कई सवाल हैं, जो जेल प्रशासन पर सवाल खड़े करते हैं। फिलहाल, पुलिस ने फिर से जाकिर के खिलाफ हत्या का मामला भी दर्ज कर लिया है। तिहाड़ जेल के डीजी संदीप गोयल के मुताबिक जेल में सुरक्षा का पूरा ख्याल रखा जाता है बावजूद इसके वक्त-वक्त पर जेल के अंदर हत्या की वारदातें होती रहती हैं। 

पिछले चार वर्षों में तिहाड़ जेल में हत्या की चार वारदातों को बेरहमी से अंजाम दिया गया डीजी जेल के अनुसार वर्ष 2017 से वर्ष 2020 में अब तक हर साल तिहाड़ जेल में एक मर्डर किया गया अब प्रसाशन पर सवाल उठते है आखिर हमारा पुलिस प्रसाशन क्या कर रहा है ?


Comments

Popular posts from this blog

बुरी खबर - पाकिस्‍तान के स्‍टार खिलाड़ी अफरीदी की गोली मारकर हत्‍या

  खेल प्रेमियो के लिए एक बहुत ही बुरी खबर है। पाकिस्‍तान में दो पक्षों की झगडे में पाकिस्‍तान के स्‍टार खिलाड़ी कर हत्या कर दी। यह घटना पाकिस्‍तान के खैबर जिले के जमरूद में घटित हुई। पाकिस्‍तान नेशनल फुटबॉल टीम के खिलाड़ी जुनैद अफरीदी की मैदान पर फुटबॉल मैच के दौरान ही गोली मारकर हत्‍या कर दी। जानकारी के मुताबिक दो समूह के बीच भूमि विवाद के कारण गोलीबारी हुई, जिसमें जुनैद को गोली लग गई और उन्‍होंने दुनिया को अलविदा कह दिया। इस विवाद में जुनैद के अलावा भी एक व्‍यक्ति को गंभीर चोंटें भी आई है। इस घटना से फैंस में रोष हैं।

गुरुग्राम : कान में ईयरफोन लगा सैर कर रहा था युवक - ट्रेन की चपेट में आने से मौत

  धनवापुर फाटक  कि  रेलवे लाइन  के आस -पास शुक्रवार सुबह एक  हादसे में ट्रेन की चपेट में आकर एक युवक की मौत हो गई। युवक ने कान में ईयरफोन लगाए हुए गाने सुनते हुए पटरी के साथ-साथ चल  रहा था। मालगाड़ी के ड्राइवर ने काफी देर तक हॉर्न दिया, लेकिन गाने के चलते वह सुन नहीं सका और ट्रेन की चपेट में आ गया। जीआरपी थाना पुलिस ने बताया कि शुक्रवार सुबह करीब 7 बजे यह हादसा हुआ। लक्ष्मण विहार कॉलोनी निवासी 21 साल का अवनीश धनवापुर फाटक के पास सैर करने गया। वह ट्रेन की पटियों के साथ-साथ सैर कर रहा था। कान में ईयरफोन लगाकर वह तेज आवाज में गाने भी सुन रहा था। तभी दिल्ली की ओर से मालगाड़ी आई। लोको पायलट ने युवक को देखकर हॉर्न भी बजाया लेकिन ईयरफोन व गाने की तेज आवाज के चलते युवक सुन नहीं सका और मालगाड़ी की चपेट में आ गया। इस हादसे की सारी सूचना कंट्रोल रूम  में दी गई तो जीआरपी थाना पुलिस मौके पर पहुंची। मृतक छात्र के परिजन  व पिता शैलेंद्र भी यहां आए। पिता ने शक जताया कि किसी ने बेटे को ट्रेन की ओर धक्का दिया। जीआरपी थाना पुलिस ने मेडिकल बोर्ड से मृतक के शव का पोस्टमार्टम कराया। जिसमें युवक को धक्का देन

शादी का झांसा देकर दिल्ली की छात्रा से गुड़गांव के होटल में दुष्कर्म

  दिल्ली की 18 साल की छात्रा से गुड़गांव के होटल में दुष्कर्म का नया  मामला सामने आया है। छात्रा का कहना है की  आरोपित ने उसे शादी का झूठा झांसा देकर चुप करा दिया और लगभग 2 साल तक उसके साथ दुष्कर्म करता रहा। और अब उससे शादी करने  से मना कर रहा   है। डीएलएफ सेक्टर-29 थाना एसएचओ इंस्पेक्टर जगबीर ने बताया कि युवती ने एफआईआर दर्ज करवाई । पुलिस के कहना है कि , शिकायत देने वाली छात्रा पत्राचार से बीए प्रथम वर्ष की पढ़ाई कर रही है। उसकी उम्र अब 18 साल 2 महीने है। युवती का कहना है कि साल 2018 में एक शादी समारोह में गुड़गांव के सरहौल गांव निवासी अभिषेक से उसकी भेंट  हुई।और जल्द ही दोनों की मुलाकात दोस्ती में बदल गई और दोनों मोबाइल पर बातचीत करने लगे। युवती ने  आरोप लगाया है कि युवक ने कुछ समय पहले एमजी रोड स्थित एक होटल में बहाने से बुलाकर रेप किया। युवती ने जब उसकी बात के खिलाफ विरोध जताया तो उसने कहा कि जल्द ही शादी कर लेंगे। लेकिन इसके बाद से कई बार रेप किया और अब शादी से इंकार कर दिया। बुधवार शाम को युवती ने पुलिस शिकायत को दी । जिस पर एफआईआर दर्ज की गई है कार्रवाई कर जल्द ही आरोपित को पकड़